Yo Diary

Offer Price 98/-

बिहार : 26 से नौवीं क्लास की वार्षिक परीक्षा, 15 लाख छात्र-छात्राएं होंगे शामिल

पटना :नौवीं कक्षा की वार्षिक परीक्षा पहले 20 मार्च से शुरू होने वाली थी, लेकिन अब 26 मार्च से ली जायेगी. पूर्व में यह परीक्षा 20 से 23 मार्च को निर्धारित की गयी थी. माध्यमिक शिक्षक संघ के मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने बताया कि मैट्रिक व इंटरमीडिएट परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन होने के कारण परीक्षा की तिथी में बदलाव किया गया है. पहले भी बोर्ड की ओर से मूल्यांकन तिथि बढ़ाने की मांग की गयी थी, जिसके बाद बोर्ड ने इंटरमीडिएट मूल्यांकन की तिथि पांच मार्च से कर दी, लेकिन मैट्रिक का मूल्यांकन 13 मार्च से शुरू कर दिया गया है. मूल्यांकन कार्य में विद्यालय के प्रधान, उच्च माध्यमिक शिक्षक एवं माध्यमिक स्कूलों के सभी शिक्षक मूल्यांकन कार्य में व्यस्त हो गये हैं.

100 से अधिक मूल्यांकन केंद्र बनाये गये

साथ ही साथ लगभग 100 से अधिक विद्यालयों में मूल्यांकन केंद्र बनाये गये हैं. इस कारण परीक्षा की तिथि बढ़ा कर अब 26 मार्च किया गया है. परीक्षा में बिहार के तकरीबन 15 लाख छात्र व छात्राएं शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन दो पालियों में परीक्षाएं आयोजित होंगी. 100 अंक वाले विषय की परीक्षा के लिए तीन घंटे का समय तथा 80 अंकों वाले विषय की परीक्षा के लिए ढाई घंटे का समय नर्धिारित किया गया है विद्यालयों में नौवीं कक्षा की छात्र व छात्राओं का प्रथम, द्वितीय परीक्षा के आधार पर वार्षिक परीक्षा का परिणाम घोषित किया जायेगा और विशेषज्ञों की देखरेख में प्रश्न पत्रों को तैयार किया जा रहा है. परीक्षा में माध्यमिक परीक्षा-2018 के अनुसार ही 50 प्रतिशत वस्तुनिष्ठ तथा शेष लघु एवं दीर्घउत्तरीय प्रश्न पुछे जायेंगे, ताकि अभी से ही छात्र व छात्राओं को बोर्ड परीक्षा के पैटर्न की जानकारी मिल सकें. मार्च के तीसरे सप्ताह तक विद्यालयों में प्रश्न पत्र उपलब्ध करा दिये जायेंगे.