Yo Diary

Offer Price 98/-

बिहार : कस्तूरबा की छात्राएं सीखेंगी चरखे से सूत काटने के गुर

गौनाहा :भितिहरवा आश्रम जीवन कौशल ट्रस्ट अध्यक्ष शैलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि आज के दौर में गांधी के विचारों को लोगों में जगाने की जरूरत है. गांधी के विचारों को आत्मसात करके ही एक स्वच्छ समाज की कल्पना की जा सकती है. इसके लिए जरूरी है कि लोग खासकर बच्चे गांधी को अच्छे तरह से जान सकें और अपने परिजनों और पड़ोसियों को प्रेरित कर गांधीवादी सिद्धांतों को आगे बढ़ाये. श्री सिंह सोमवार को भितिहरवा स्थित कस्तूरबा कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय में छात्र-छात्राओं को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि इसके लिए भितिहरवा आश्रम जीवन कौशल ट्रस्ट ने पहल की है. नये सत्र से इस स्कूल में गांधी जी के प्रिय चरखे को चलाने के बारे में छात्राओं को प्रशिक्षित किया जायेगा. इस दौरान छात्राओं के बीच चरखे का वितरण किया गया. श्री सिंह ने आगे कहा कि चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के सौ साल पूरे हो चुके है. इसको लेकर सूबे में चंपारण शताब्दी वर्ष मनाया जा रहा है. इस मौके पर गांधी के आदर्शों को छात्राओं तथा उपस्थित जनों के बीच दरसाते हुए अध्यक्ष ने कहा कि अपना हाथ अपना काम को गांधी ने तरजीह दी थी. इसी को लेकर गांधी

ये रहे मौजूद

इस मौके पर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष राकेश राव, रिसर्च सेंटर के निदेशक एमके सिंह, अरुण सिंह, युवराज नवीन सिंह, नितेश राव, डॉ आरके सिंह, कस्तूरबा कन्या उच्च माध्यमिक विद्यालय प्लस टू के प्रधानाध्यापक दीपेंद्र वाजपेई, अध्यक्ष रामबाबू प्रसाद, सचिव दिनेश यादव, सेवानिवृत्त शिक्षक शिवशंकर चौहान समेत तमाम लोग मौजूद रहे.