Yo Diary

Offer Price 98/-

जब मरियम नवाज ने मंच से बुलेटप्रूफ स्क्रीन हटाकर कहा- हिम्मत है तो करें मुझ पर हमला

रावलपिंडी (एजेंसी)। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने रविवार को देश की न्याय व्यवस्था और विपक्षी पार्टी पर जमकर हमला बोला। इस दौरान मरियम ने अपने पिता नवाज शरीफ पर जूते फेंक कर किए गए हमले के घटना की भरपूर निंदा की।

जनता से सत्ता बदलने की अपील

रावलपिंडी के फवारा चौक पर पीएमएल-एन के सोशल मीडिया कंवेंशन पर आधारित भीड़ भरे सभा को संबोधित करते हुए मरियम ने जनता से कहा, अगर आप फैसले से सहमत नहीं हैं तो उठ कर खड़े हों और अगले आम चुनाव में सत्ता में बैठे इन कठपुतलियों को खारिज करने के लिए तैयार हो जायें। उन्हें सत्ता से बाहर निकाल फेंकें जो आपको वोटों के साथ नाइंसाफी करते हैं और आरोप-प्रत्यारोप की गंदी राजनीति करते हैं।

'शेर गीदड़ से नहीं डरते'

लाहौर में अपने पिता के उपर जूते फेंके जाने की घटना का जिक्र करते हुए मरियम नवाज ने कहा कि, जिन्होंने भी ऐसा किया है वे कायर हैं साथ ही मरियम ने उस घटना के जिम्मेदार लोगों को जनता के सामने आने की चुनौती भी दी। कहा कि पर्दे के पीछे से वार ना करें। नवाज शरीफ इस तरह की कायराना हरकतों से ड़रने वालों में से नहीं हैं। शेर गीदड़ से नहीं डरा करते। जो हारते हैं वे इस तरह के तकनीक अपनातें हैं। जनता उनसे जरुर बदला लेगी जो इस तरह की हरकतों से जुड़े हैं। इसका जवाब जनता अगले आम चुनाव में नवाज शरीफ के पक्ष में वोट देकर देगी।

हिम्मत है तो करें मुझ पर हमला'

उन्होंने आगे कहा कि इस तरह की हरकतों से नवाज शरीफ की लोकप्रियता और बढ़ेगी, सम्मेलन में लोगों की भागीदारी इसका गवाह है। अपने मंच से बुलेटप्रूफ स्क्रीन को हटाते हुए कहा कि, अगर हिम्मत है तो मुझ पर हमला कर के दिखाएं।

हिम्मत है तो करें मुझ पर हमला'

मरियम ने इस दौरान पीटीआइ प्रमुख इमरान खान पर भी तीखे हमले किए और कहा कि उनकी गंदी राजनीति के कारण ही इस तरह के हिंसक वारदात अंजाम दिए जा रहे हैं। इमरान खान पर आरोप लगाते हुए मरियम ने कहा कि वे समाज में असिष्णुता की संस्कृति और राजनीति में गंदी भाषा को बढ़ावा देने में लगे हैं। कहा कि, आप सोचते हैं, जूते फेंकने की घटना की सिर्फ एक निंदा क्या काफी है? इमरान खान की तरफ इशारा करते हुए कहा कि आपने ही पिछले 5 सालों से जन सभाओं में गंदी भाषा की संस्कृति को बढ़ावा दिया है। पूछा कि क्या आपने पीएम हाउस से विरोधियों को उनका गला पकड़ कर खींचने की बात नहीं की थी? उन्होंने कहा कि उसके पिता किसी के सामने कभी नहीं झुके हैं। कहा कि इमरान खान ने जरदारी साहब के सामने झुके तब उन्हें सीनेट में 12 वोट आसिफ जरदारी को दे दिए थे।

JIT ने जांच के नाम पर करोड़ों लिए:-उन्होंने पनामा पेपर मामले में जांच कर रही ज्वाइंट इन्वेस्टिगेशन टीम पर भी धावा बोला। कहा कि जांच दल को करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद कुछ भी नहीं मिला। आरोप लगाया कि जेआइटी की टीम ने जांच के नाम पर अपने रिश्तेदारों को करोड़ों रुपए बांटें हैं। मरियम ने कहा कि वे और उनके पिता नवाज शरीफ कैंसर से पीड़ित अपनी मां कुलसुम को देखने विदेश जाना चाहते थे। लेकिन पिछले चार महीनों से हमलोगों को मां से मिलने नहीं दिया गया। कहा कि जांच दल ने इस मामले में 6 रुपए के भ्रष्टाचार का भी नहीं पता लगा पाया। उन्होंने पीएमएल-एन की सोशल मीडिया पर उपस्थिति की भी प्रशंसा की।