Yo Diary

Offer Price 98/-

पटना साहिब के सांसद ने कहा कि सर, यह सब क्या हो रहा है. आपने वादा किया था, सरकार ने वादा किया था. चं

भोजपुर :बिहार के भोजपुर जिला मुख्यालय आरा में स्थित मंडल कारा दो दिनों से सुर्खियों में बना हुआ है. जेल के अंदर कैदियों के गांजा पीने और फोन से बात करने का वीडियो वायरल होने के बाद मामला विधानसभा के बजट सत्र में भी गूंजा. पुलिस मुख्यालय ने संज्ञान लिया और जांच शुरू कर दी है. इसी बीच आरा मंडल कारा से एक सनसनीखेज खबर मिली है. जानकारी के मुताबिक जेल के अंदर कैदियों के दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हुई और रोकने गयी पुलिस पर कैदियों ने हमला कर दिया.

घटना आज तड़के सुबह की बतायी जा रही है. जेल के अंदर दो कैदियों का खतरनाक गुट आपस में किसी मामले को लेकर भीड़ गया. उसके बाद पुलिस वालों को लगा कि बस यूं ही बहस चल रही है, थोड़ी देर में मामला शांत हो जायेगा. अभी कारा प्रशासन कुछ समझ पाता, उसके पहले दोनों गुट आपस में भीड़ गये और एक साथ मिलकर बाद में मंडल कारा का गेट तोड़ने लगे. जेल के अंदर शुक्रवार को वीडियो वायरल होने के बाद छापेमारी हुई थी, उसके बाद से ही कैदियों में अफरा-तफरी का माहौल है. कैदियों के दो गुटों के बीच हुई मारपीट के दौरान बीच में बचाव करने के लिए गये पुलिस वालों पर कैदियों ने हमला कर दिया और कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गये. इस घटना में कई कैदियों के गंभीर रूप से घायल होने की सूचना मिली है. सभी को तुरंत सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस सूत्रों की मानें, तो जेल के अंदर का वीडियो वायरल होने के बाद कैदियों का दो गुट आपस में भीड़ गया है. वहीं जेल प्रशासन यह सोचने में लगा है कि आखिर कैदियों को इस बात की जानकारी कैसे हुए कि जेल में छापेमारी वीडियो के वायरल होने का परिणाम है, जरूर किसी ने सूचना दी होगी.

आपस में बहस कर रहे कैदी अचानक पूरे कारा प्रशासन के खिलाफ हो गये और जेल का गेट तोड़ने की कोशिश करने लगे. बताया जा रहा है कि इससे पूर्व भी कई बार आरा जेल में हिंसक घटनाएं हो चुकी हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि कैदियों के साथ जेल पुलिस के सिपाहियों की अच्छी सांठगांठ होती है और उन्हीं की मिलीभगत की वजह से जेल के अंदर सारी सामग्री पहुंचती है.