Yo Diary

Offer Price 98/-

गोपालगंज में गाना बजाने को लेकर हिंसक झड़प, घर में घुसकर महिलाओं के साथ...

गोपालगंज : थावें जगमलवां पंचायत के छोटका जगमलवां गांव में बारात के परछावन के दौरान चल रहे प्रोग्राम में गाना बजाने को लेकर कुछ शरारती तत्वों ने जमकर उत्पात मचाया. इतना हीं नहीं शरारती तत्वों ने सड़क से लेकर घर तक दौड़ाकर महिलाओं को पीटा, गहने छीने व घर में घुसकर महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया व छेड़खानी भी की. इस मामले में थावे थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है. बताया गया है कि छोटका जगमलवां गांव के भोला चौधरी के पुत्र राजू यादव की बरात नगर थाने के हजियापुर-कैथवलिया के वीरेन्द्र यादव के घर जाने के लिए निकली थी. सभी बराती गाड़ियों में सवार होकर पहले हीं निकल चुके थे. वहीं, गावं के हीं बगहा पोखरा के किनारे महिलाएं दूल्हा का परछावन कर रहीं थीं. इसी दौरान कुछ शरारती तत्व आये और चल रहे प्रोग्राम में बाधा उत्पन्न करने लगे. साथ हीं महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करने गले. इसी बीच गश्ती में निकली थावे थाने की गाड़ी देख सभी भाग गये.

वहीं, जब परछावन के बाद सभी महिलाएं जैसे हीं घर पहुंची कि सभी शरारती लड़के घर के दरवाजे पर पहुंच गये और घर में घुस कर महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार और छेड़छाड़ करने लगे. साथ हीं बेल्ट व डंडा से मारते हुए कुछ महिलाओं को बेपर्दा कर दिये. इसी क्रम में इंदल चौधरी की पत्नी चम्पा देवी के गले से सोने का चेन और मंगलसूत्र राजा बाबू नामक युवक ने खींच लिया. कुछ देर बाद वहां गांव के कुछ लोग पहुंचे और विरोध करने लगे तो उनके ऊपर शरारती तत्वों ने ईंट-पत्थर से हमला कर दिया.

इसके बाद भागते हुए केस करने पर जान से मारने की धमकी भी दी. इस मारपीट में कई लोग घायल भी हुए हैं. बाद में ग्रामीणों व परिजनों के सहयोग से घायल मरछिया देवी, भरत चौधरी, चम्पा देवी, इंगल चौधरी, अतवारी देवी, वीरेंद्र चौधरी, गणेश यादव और हरिकिशुन चौधरी का इलाज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र थावे में कराया गया. इस मामले में गांव के भोला चौधरी ने बड़ा जगमलवां गांव निवासी एरम अली, सारिक अली,आसिफ अली, अमीर हमजा, राजा बाबू, मुन्ना आलम, कामरान आलम,आशिक अली को नामजद व छह अज्ञात लोगों पर थावे थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है.

उधर, इस घटना से गांव की महिलाएं दहशत में हैं. जबकि, मारपीट की सूचना पर थावे सहित नगर, मांझा, जादोपुर व मीरगंज सहित सात थाने की पुलिस गांव में पहुंची. पुलिस को देखकर गांव की महिलाओं व बुजुर्गों ने राहत की सांस ली. थानाध्यक्ष गौतम कुमार ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया है.आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.