Yo Diary

Offer Price 98/-

बिहार : व्हाट्सएप पर प्रश्न पत्र वायरल, नियोजित शिक्षक सहित 4 चढ़े पुलिस के हत्थे

सहरसा :बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित वार्षिक परीक्षा में व्हाट्सएप पर प्रश्न पत्र वायरल करने के आरोप में बुद्वा पब्लिक स्कूल केंद्र के समीप से केंद्राधीक्षक सह श्री दुर्गा उच्च विद्यालय सिहौल के प्रधानाध्यापक संतोष कुमार ने सौरबाजार थाना क्षेत्र के मधुरा निवासी मो अशफाक को मोबाइल के साथ शुक्रवार को पकड़ कर पुलिस के सुपुर्द किया. दिये आवेदन में केंद्राधीक्षक ने कहा कि उन्होंने देखा कि पुलिया के समीप आठ दस लड़का चिट पूर्जा बना रहा है. संदेह होने पर जब वहां गये तो पाया कि एक लड़का मोबाइल से परीक्षा संबंधी सामग्री अगल बगल के बच्चों को पहुंचा रहा है. उस लड़का को पकड़ने पर अन्य सभी भाग गये. जिसके बाद पकड़ाये युवक मो अशफाक व उसका मोबाइल को थाना के सुपुर्द किया. पुलिस ने मामला दर्ज कर उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

नियोजित शिक्षक चढ़े पुलिस के हत्थे

पकड़ाये युवक से पुलिस ने जब पूछताछ शुरू की तो उसके बयान ने होश उड़ा दिया. युवक ने कई लोगों का नाम व मोबाइल नंबर देकर इनलोगों के द्वारा परीक्षा सामग्री भेजे जाने की बात कही. जिसके बाद पुलिस ने न्यू कोसी कोचिंग सेंटर कहरा में छापेमारी की तो कोचिंग के शिक्षक डरहार निवासी अमरजीत कुमार, सौरबाजार निवासी मो दिलशाद व उत्क्रमित मध्य विद्यालय गढ़िया सौरबाजार के शिक्षक भूपेंद्र साह को पकड़ा गया. जिससे पूछताछ की जा रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इनलोगों के मोबाइल में भी सामग्री पायी गयी है. जानकारी के अनुसार पकड़ाये नियोजित शिक्षक, कोचिंग के शिक्षक व अन्य पर भी मामला दर्ज कर न्यायिक हिरासत में भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. शनिवार को सभी को लेकर पुलिस ने कई जगहों पर भी छापेमारी भी की.

लोगों में चर्चा का बाजार गर्म

नियोजित शिक्षक के पुलिस हत्थे चढ़ने के बाद बाजार में कई तरह की चर्चा शुरू हो गयी. कोई बड़े रैकेट होने तो कोई किसी केंद्र से ही परीक्षा का सामग्री बाहर आने की बात कर रहे थे. हालांकि यह तो पुलिसिया अनुसंधान में ही स्पष्ट हो पायेगा. लोगों ने बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है.