Yo Diary

Offer Price 98/-

पटना हाई कोर्ट ने SP और SI से कहा-हाजिर हो! बताओ, बच्चे को क्यों उठाया

पटना [राज्य ब्यूरो]। पटना हाईकोर्ट ने छपरा (सारण) के एसपी एवं भगवान बाजार के थानाध्यक्ष को 27 फरवरी को कोर्ट में उपस्थित होकर बताने को कहा है किस परिस्थिति में घर से बच्चे को पुलिस उठाकर ले गई ?यदि उसने कोई अपराध किया था तो उसे न्यायालय में उपस्थित कराया जाना था। और ना ही जेल में डाला गया आखिर वह बच्चा है कहां ?

यह आदेश शुक्रवार को न्यायाधीश डॉ. रवि रंजन एवं न्यायाधीश प्रकाश चंद्र जायसवाल की दो सदस्य खंडपीठ ने एक बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया। हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर पीडि़त पिता यह जानकारी दी थी।

आरोप है कि उनके पुत्र विवेक कुमार को 18 फरवरी को दिन के 9:00 बजे पुलिस उठाकर ले गई। और उसे कहीं नजरबंद कर रखा गया है। जबकि वह लड़का अल्पवयस्क है उसे पुलिस कहां ले गई यह भी उसे पता नहीं है। इतना ही नहीं उसके लड़के खिलाफ कोई प्राथमिकी भी दर्ज नहीं की गई है। उसे यदि किसी अपराध में सम्मिलित किया गया है तो न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में भेजा जाना चाहिए था।

18 फरवरी से लड़के कोभगवान बाजार पुलिस छपरा सारण द्वारा कहीं उठाकर ले जाया गया । इस शिकायत को अदालत ने गंभीरता से लेते हुए संबंधित पदाधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया। वीरेंद्र भारती ने आरोप लगाया है कि उनके लड़के को बिना किसी अपराध के कारण पुलिस उठाकर ले गई है। याचिका द्वारा उसने अपने बच्चे की रिहाई की मांग की वीरेंद्र भारती छपरा के करमाडाहा गांव का रहने वाला है।